इंतज़ार

कितने अरसे बाद आये हो ..

मुकद्दर से मेरी मुलाकात तो होने दो

चले जाओगे ऐसे ही तुम बिखेरे बिना रोशनी…

दो पल जरा ठहर जाओ अभी रात तो होने दो |

image